फ्रीलान्सर्स के लिए ज़रूरी बीमा | Aviva India

फ्रीलान्सर्स के लिए ज़रूरी बीमा

फ्रीलान्सर्स के लिए ज़रूरी बीमा

फ्रीलान्सर्स के पास हमेशा यह छूट होती है कि वह अपनी मर्ज़ी से काम कर सकते हैं। फ्रीलांसर समुदाय के लिए एक काफी प्रचलित चुटकुला है कि यह एक ऐसी जॉब है जहाँ लोग अंडरवियर में भी काम कर सकते हैं और किसी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा। पर जिसने भी मैजिक माइक में चैनिंग तैतम को देखा है वह इस बात से सहमत नहीं होगा।

यह बात सही है कि अगर आप फ्रीलांसर हैं तो आप अपना “वर्क वार्डरोब” चुन सकते हैं”, आप अपने पसंद के प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं, अपने हिसाब से काम करने का समय तय कर सकते हैं, यह सब सुविधायें आपको किसी बड़ी कंपनी के साथ रेगुलर करने पर नहीं मिलती हैं। इसके साथ साथ, फ्रीलांसर होने का मतलब यह नहीं है कि आपको सिर्फ अपनी सफलता से मतलब होगा पर इसके साथ साथ अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना भी ज़रूरी है। कोई भी कंपनी बीमा के रूप में कुशन नहीं देती है जिसपर आप निर्भर हो सकते हैं, कोई यह बताने वाला नहीं होता है कि आप अक्रियाशिलता की तरफ बढ़ रहे हैं (एचआर प्रतिनिधि के लिए पुकार!)।

फ्रीलांसर बनने का आईडिया काफी स्वतंत्र करने वाला होता है, पर जब इसके पीछे मौजूद जटिलताओं की बात आती है तो यह आईडिया थोड़ा डरावना हो जाता है। अगर आपके पास कॉर्पोरेट जगत की पहले से जानकारी होती तो आप भी लाभ के पैकेज से बर्बाद हो चुके होते, पर फ्रीलान्स जीवनशैली में आपको ऐसी कोई सुविधा नहीं मिलती है। पिछले कुछ सालों में जॉब का आईडिया उभर कर आया है, तो इसके साथ जो बीमा जाते हैं उनमें भी कुछ बदलाव आया है। अब, फ्रीलांसर भी बीमा योजना के लिए साइन अप कर सकते हैं-जब तक कि वह उसका भार उठा सकते हैं।

अगर आप परेशान हैं तो बीमा जगत आपको एक ही घूँट में निगल सकता है। अब जब कि आप अपने बीमा योजना का चुनाव खुद कर सकते हैं, ना कि सिर्फ अनुकूलित कर सकते हैं- यहाँ पर एक छोटा सा मार्गदर्शन किया गया है जिससे आप इस प्रक्रिया में आगे बढ़ सकते हैं।

देयता बीमा

देयता बीमा आपको खुद से बचाने के लिए बना है। आप अगर अपने आप को किसी मुश्किल में डाल देते हैं- कोई सहयोग जिसकी जानकारी गुप्त रहनी चाहिए थी उस कहानी को इन्स्टाग्राम पर डाल कर, या फिर अगर आपके उत्पाद वितरण वाला आदमी आपके घर वाले ऑफिस में गिर जाता है और उसका हाथ टूट जाता है। कई तरह के देयता बीमा मौजूद हैं, पर आप एक से ज़्यादा देयता बीमा को चुन सकते हैं।

सामान्य देयता बीमा: यह वर्ग लोगों को कार्यक्षेत्र में होने वाले आम एक्सीडेंट से बचाता है, ज़्यादातर जहाँ तीसरा पक्ष शामिल होता है। फ्रीलांसर के लिए, यह पालिसी बदनामी जैसी चोट, ट्रेडमार्क या कॉपीराइट उल्लंघन, ट्रेडमार्क और परिवाद का विज्ञापन करने से बचाती है।

  • पेशेवर देयता बीमा: यह आपको अपने क्लाइंट और ग्राहक द्वारा मुकदमा चलाये जाने पर बचाता है, जिनका दावा होता है कि आपकी लिखावट या उत्पाद आकस्मिक त्रुटि की वजह से सुस्त था। फ्रीलांसर को इस पालिसी से फायदा मिलता है अगर उनपर मुकदमा दायर होता है क्यूंकि इस पालिसी द्वारा अगर फ्रीलांसर निर्दोष पाया जाता है तो कानूनी प्रक्रिया का सारा खर्चा उठाया जाता है।
     

  • साइबर देयता बीमा: चूँकि ज़्यादातर व्यवसाय अब डिजिटल होते जा रहे हैं, इससे डेटा भंग होने की संभावना और हैकर बढ़ते जा रहे हैं। यह पालिसी आपको उस परिस्थिति में बचाती है जब कोई जानकारी लीक हुई हो या कोई समझौता हुआ हो। आपको इस पालिसी में निवेश करने के बारे में सोचना चाहिए अगर आप संवेदनशील जानकारी जैसे कि क्रेडिट कार्ड या उसके डिटेल का सौदा करते हैं।

आपको हर प्लान के बारे में सोचना चाहिए जो आपके व्यवसाय के लिए सही होगा और सारे प्लान के दाम और परिस्थिति की तुलना करने के बाद उसमें निवेश करना चाहिए।

  • व्यावसायिक संपत्ति बीमा: ऑफिस का सामान महंगा होता है। एक फ्रीलांसर होने पर आपके वर्कप्लेस पर कुछ उपकरण होने चाहिए जो आपकी दक्षता बढ़ाएंगे। अगर उस उपकरण में कुछ खराबी आती है, तो वह काफी महँगा पड़ सकता है। व्यावसायिक उपकरण की कीमत हमेशा रेंटर पालिसी में कवर नहीं होतीं।

उपकरण के अन्दर आते हैं कंप्यूटर, टूल, ऑफिस फर्नीचर आदि। एक खाली रूम से काम करने पर भी, व्यावसायिक संपत्ति बीमा में निवेश करना सही हो सकता है। ज़्यादातर केस में, फ्रीलांसर व्यापार मालिकों की पालिसी के लिए योग्य होते हैं जिसमें देयता और व्यावसायिक संपत्ति बीमा कवरेज कम दाम में जुड़े होते हैं उस तुलना में जब दोनों प्लान को अलग अलग खरीदा जाता है।

व्यावसायिक ऑटो बीमा

इस तरह के बीमा की सामान्य सोच यह है कि यह सिर्फ उन लोगों के लिए है जो व्यावसायिक व्हीकल के मालिक हैं जैसे कि डिलीवरी या कैब सेवा- जो गलत है। कोई भी जो व्यवसाय करते हुए ड्राइव करता है, वह इस प्लान से फायदा कमा सकता है। उदाहरण के लिए, अगर कोई फ्रीलान्स डिज़ाइनर क्लाइंट मीटिंग से वापस आते वक़्त दुर्घटनाग्रस्त हो जाता है, एक व्यक्तिगत ऑटो पालिसी से सारी क्षति को पूरा किया जा सकता है क्यूंकि व्हीकल को व्यवसाय के लिए इस्तमाल में लाया जा रहा था।

पालिसी द्वारा कवर किये जाने वाले पहलु:

  • व्हीकल की मरम्मत के लिए कवरेज

  • किसी भी प्रॉपर्टी की क्षति या तीसरे पक्ष को चोट के लिए ऑटो देयता कवरेज

  • किसी तीसरे पक्ष या ड्राईवर द्वारा चोट को झेलने पर चिकित्सा भुगतान

जो फ्रीलांसर काम के लिए रेंट किये गए कार से घूमते हैं उन्हें गैर-स्वामित्व वाले ऑटो या किराए पर लिए गए बीमा का लाभ मिल सकता है, जिसमें वह जिस कार से घूमते हैं (पर वह उनकी अपनी नहीं है) उसपर होने वाली क्षति कवर हो जाती है।

स्वास्थ्य बीमा

एक फ्रीलांसर अपने आप की सबसे अच्छी सम्पति होती है। पर यह लगभग नामुमकिन है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कभी समझौते की स्थिति में नहीं होगी। अगर आप किसी बड़ी संस्था के लिए काम कर रहे हैं तो आपके नाम पर स्वास्थ्य बीमा होता है, पर अगर आप फ्रीलांसर हैं तो कुछ सुविधाओं को छोड़ना पड़ता है- यह उनमें से एक है। आपात चिकित्सा के समय वित्तीय आपदा से बचने के लिए आपको स्वास्थ्य बीमा पर भरोसा करना होगा।

स्वास्थ्य बीमा के कुछ लाभ हैं:

  • कम लागत के स्वास्थ्य सम्बन्धी विकल्प

  • दवाई के पर्चे पर छूट

  • विशाल मेडिकल बिल से परहेज़

  • व्यापार व्यवधान बीमा

कई सारी बाधाएं हैं जो आपके काम में रुकावट डाल सकती हैं। फ्रीलांसर अपना ही व्यवसाय होते हैं, और किसी भी और व्यवसाय की तरह उनके पास अब व्यापार व्यवधान बीमा को चुनने का आप्शन है।

यह प्लान तब काम आ सकता है जब प्राकृतिक विपदा आती है और जब कार्यालय में पाइप के फट जाने से फ़ोर्स डाउन है। उन परिस्थिति में, यह तय करने के लिए कि आपके पॉकेट से पैसे खर्च ना हों, एक व्यापार व्यवधान बीमा आपकी मदद करेगा जब तक कि आपकी स्थिति संभल नहीं जाती। यह क्षति का भार उठाएगा और बुरे वक़्त में आपके पैसों को सही तरह से संभालेगा भी।

बीमा कुशन की तरह है जो आपको कुछ कठिन परिस्थितियों से बचाएगा। फ्रीलांसर होना आसान नहीं होता, और उन्हें भी वही सुविधा मिलनी चाहिए जो बड़े व्यवसाय में काम कर रहे लोगों को मिलता है। उन सारे बीमा की लिस्ट बनाएं जिसकी ज़रुरत आपके काम में हो सकती है, और इसका पोर्टफोलियो बनाना शुरू कर दें।

बीमा को खरीदना मुश्किल नहीं है पर उसे संभालना मुश्किल हो सकता है। श्रेष्ठ पेशेवर से परामर्श लें और आने लिए फ्रीलान्स बीमा प्लान बनवाएं जो कि फूल-प्रूफ हो। अपने दिमाग को शांत करने में मदद करें, क्यूंकि आपके पास और बहुत कुछ होगा सोचने को!

Jul 38/19

Talk to an Expert

Blog Category: 

Leave a Reply

2 + 14 =
Solve this simple math problem and enter the result. E.g. for 1+3, enter 4.